गन्ना पर्ची कैलेंडर देखे

UP Scholarship Status 2023 पोस्ट मैट्रिक स्कीम के नाम पर हुआ 75 करोड़ रुपये का घोटाला, ईडी ने किया पर्दाफाश

UP Scholarship Status 2023: स्कॉलरशिप के नाम पर राज्य में कई शैक्षणिक स्थानों ने झूठे नामों के तहत अवैध तरीकों का इस्तेमाल करते हुए छात्रवृत्ति का लाभ उठाया और अपने आयोग के लिए इसका दुरुपयोग किया।

ईडी ने UP Scholarship फर्जी पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजनाओं के संबंध में शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के 6 जिलों में 22 स्थानों पर छापेमारी की। ईडी ने कहा कि छात्रवृत्ति घोटाला कई शैक्षणिक स्थानों द्वारा चलाया गया था और यह लगभग 75 करोड़ का हो सकता है।

इसके अलावा तलाशी के दौरान ईडी कर्मियों द्वारा 36.51 लॉक रुपए की नकदी और 956 अमेरिकी डॉलर की विदेशी मुद्रा जब तक की गई। ईडी ने आरोप लगाया कि FINO पेमेंट बैंक के कई एजेंटों सहित विभिन्न एजेंट घोटाले में शामिल थे। एडी के अनुसार FINO पेमेंट बैंक के मोहम्मद साहिल अजीज, अमित कुमार, मौर्य तनवीर अहमद और जितेंद्र सिंह ने इस घोटाले को संचालित किया।

UP Scholarship 2023: ईडी ने कहा, “अपराधियों ने FINO की लखनऊ और मुंबई शाखाओं में सभी बैंक खाते खोले थे। “

UP Scholarship Status 2023

अब तक UP Scholarship की जांच में पता चला है कि इन संस्थानों ने अलग-अलग लोगों के दस्तावेज का इस्तेमाल कर करीब 3,000 ऐसे खाता खोलें जिसमें छात्रवृत्ति राशि प्राप्त करने के लिए इन कॉलेजों और संस्थानों ने 7 से 12 वर्ष की आयु के नाबालिग छात्रों और 45 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के लोगों के बैंक खाते का उपयोग किया।

अधिकांश खाते ग्रामीणों के नाम पर हैं जिन्हें बैंक खातों के बारे में जानकारी तक नहीं है और जिन्हें आज तक कोई छात्रवृत्ति नहीं मिली है।

ईडी ने आरोप लगाया है कि कुछ मामलों में संस्थान और उनके कर्मचारी अवैध रूप से बैंक द्वारा फिनो बैंक एजेंटों को जारी किए गए आईडी और पासवर्ड का अवैध रूप से प्राप्त करने और उनका उपयोग करने में कामयाब रहे। इन स्थानों द्वारा छात्र छात्रों के खाते से UP Scholarship की राशि नगद निकाली गई।

इसके अलावा ईडी के तलाशी अभियान के दौरान विभिन्न संस्थाओं के सिम कार्ड और टिकट और मुहूर्त जप्त की गईं। जांच से पता चला कि यह संस्थाएं प्रथम दृष्टया विभिन्न दस्तावेजों की जालसाजी और मनगढ़ंत गतिविधियों में शामिल थीं।

UP Scholarship 2023: यूपी के कॉलेज ईडी के निशाने पर

ईडी की जांच के दायरे में आने वाले शिक्षण संस्थानों में लखनऊ में एस० एस० इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, हाईगिया कॉलेज ऑफ फार्मेसी, इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी/सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मेसी, इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड एजुकेशन, डॉक्टर ओम प्रकाश गुप्ता इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी शामिल हैं। फर्रुखाबाद में प्रबंधन और प्राधोगिकी, हरदोई में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन और जीविका कॉलेज ऑफ फार्मेसी, आर० पी० इंटर कॉलेज ज्ञानवती इंटर कॉलेज और उच्च माध्यमिक विद्यालय।

ईडी का कहना है कि अभी UP Scholarship पर विस्तृत जांच चल रही है।

यह भी पढ़े:-