E Ganna | जुलाई के महीने मैं गन्ने की अधिक पैदावार के लिए किसानो को ये जरुर करना चाहिए ji

E Ganna | caneup | caneup.in | cane up | bcml | cane enquiry | up cane payment | up cane registration | e ganna app | up cane department | e ganna app download | ganna parchi | upcane | upcane .in | up cane | गन्ना पर्ची देखे | यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर |

किसानो को जून के महीना मैं अपनी गन्ने की फसल पर जायद ध्यान देना चाहिए क्योंकि जून मैं ज्यादा गर्मी पढ़ने लगते है और रोग आने लगते है । सबसे पहले तो अपनी गन्ने की फसल को ध्यान देते रहना चाहिए की पानी समय से लगा की नहीं लगा और कोई रोग तो नहीं है।

गन्ने में लगने वाले सभी रोगों से पहले ही सुरक्षित हो जाओ, नही तो बाद में पछताओगे

सबसे पहले किसान को अपने बीजः के बारे मैं पता होना चाहिए की बीजः किस वैरायटी का है क्योंकि कुछ रोग ऐसे होते है जो बीज मैं पहले से होते है जैसे जैसे बीज पुराना होता रहता है वैसे वैसे बीज मैं रोग आने लगता है । CO 038 गन्ने मैं सबसे ज्यादा रोग आता है जैसे की गन्ने की पत्तिया सिकुड़ने लगती है जिससे की हमारी उपज मैं बहुत नुकसान होता है।

1 एकड़ में कितना यूरिया डाला जाता है?

शुगर कैन बोरर ये रोग गन्ने मैं मई और जून के महीने मैं आता है अपने देखा होगा की ऐसे लगता है जैसे की गन्ने की फसल को कोई काट रहा है गन्ने की पत्तिया अचानक से सूखने लग जाती है और हमारी फसल बर्बाद हो जाती है इश्के लिए हमे पेस्टिसाइड का उपयोग करना चाहिए जैसे की कोरोजन , कालिया , दुनोत , दवाओं का प्रयोग कर सकते है।

E Ganna
E Ganna

गन्ने का भुरजी रोग : अपने गन्ने मैं देखा हो की गन्ने की फसल ऐसे लगने लगती है जैसे की फसल मैं किसी ने आग लगा दी हो और गन्ने सारे सूखने वाले हो । ये रोग गन्ने की जड़ो मैं पाया जाया है इस रोग मैं हम गन्ने की जड़ो मैं सफ़ेद सफदे स्पॉट दिख जाते है । इस रोग की वजह काम पानी देना होता है । इस रोग के लिए हमे फुर्टरा, गन्ने की जड़ो मैं डालना चाहिए।

गन्ने को पानी कैसे कैसे दे | e ganna ?

गन्ने को बोने के 2 महीने बाद हमे पहला पानी देना चाहिए क्योंकि भारत मैं ज्यादातर लोग गन्ने को नमी मैं बोते है और 2 महीने तक गन्ने मैं नहीं रहती है । 2 महीने मैं पहला पानी लगाने से बहुत फायदे है क्योंकि जब तक गन्ने मैं दो खुआई और जुताई हो जाती है जिससे की गन्ने की फसल मैं घास फुस नहीं होती है और गन्ने की कली ज्यादा निकलकर आती है।

सभी कीटनाशकों का बाप, अपनी खेती को खराब होने से पहले ही बचा ले नही तो हो सकता है खतरनाक नुकसान

पहला पानी देने के बाद जैसे ही जमीन सुख जाये तब पानी देना चाहिए गन्ने की फसल को ज्यादा पानी नहीं देना चाहिए ज्यादा पानी देने से गन्ने की कली नहीं निकल पाती और गन्ने की पैदावार घाट जाती है । गन्ने मैं पानी देता टाइम ये जरूर ध्यान रखे की गन्ने के खेत को पानी से ज्यादा न भरे बल्कि थोड़ा थोड़ा पानी लगाए।

जून मैं कोनसा खाद डालना चाहिए | E Ganna ?

जून के महीने मैं गन्ने की ज्यादा से ज्यादा पैदावार के लिए हमे अपनी जमीन की जाँच करा लेनी चाहिए क्योंकि हमे पता लग जायेगा की हमारी मिटटी मैं किस चीज़ की कमी है उसके मुताबिक हमें गन्ने की फसल मैं खाद डालना चाहिए।

यूरिया और डाई का उपयोग करना चाहिए यूरिया गन्ने मैं बजन और गन्ने के पौधे को बड़ा देता है और डाई हर एक फसल के लिए बहुत ही जरुरी है क्योकि इसमें नईट्रोज़न, फॉस्फोरस , और पोटासियम , होता है जो हमारी गन्ने की फसल की जड़ो को मजबूत करती है पत्तिया हरी रहती है जिससे सूरज की किरण ज्यादा पढ़ती है और गन्ने इससे अपना ज्यादा से ज्यादा भोजन ले पाते है।

caneup | e ganna | eganna | cane enquiry | enquiry caneup.in | caneup.in 2022 23 | up cane payment | up cane registration | e ganna cane app | cane up in ghoshna patra | ghosna patra | cane up.in login | ganna login | up ganna payment | ganna parchi calander 2022 23 | ganna parchi calander 2023 24 | e ganna app 2023 24 |

सभी कीटनाशकों का बाप, अपनी खेती को खराब होने से पहले ही बचा ले नही तो हो सकता है खतरनाक नुकसान

Copy करने से बचे DMCA आ सकता है